सालों निकाले चक्कर नहीं दर्ज हुआ मुकदमा
लॉयन न्यूज,बीकानेर,11 फरवरी। विवाहिता के साथ ससुराल में मारपीट करने और दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। इस सम्बंध में पीडि़ता की रिपोर्ट के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामले में पुलिस अधीक्षक ने आरोपित सिपाही को भी लाइन हाजिर कर दिया है।

प्रार्थिया ने मुकदमा दर्ज करवाते हुए बताया कि वर्ष 2019 की जनवरी में शादी हुई। शादी के समय बताया गया कि उसका पति रेलवे में कांट्रेक्टर है लेकिन ऐसा कुछ नहंी था। प्रार्थिया ने बताया कि ससुराल पक्ष ने धोखे मेंं रखकर उसके साथ शादी करवाई। प्रार्थिया ने बताया कि शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग उसके तंग परेशान करने लगे। जिसके चलते वह थाने में रिपोर्ट करवाने के लिए गई लेकिन चार साल बीत जाने के बाद भी मुकदमा दर्ज नहीं किया गया। प्रार्थिया ने बताया कि 5 अगस्त को वह मुक्ताप्रसाद नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने गई तब उसे रात दस बजे तक थाने में बैठाए रखा लेकिन एफआईआर दर्ज नहीं की।

प्रार्थिया ने आरोप लगाते हुए बताया कि सिपाही रविन्द्र चौधरी व सुरेन्द्र ने एफआईआर दर्ज कराने के लिए अगले दिन बुलाया। अगले दिन गई तब भी कई घंटों बिठाए रखा। एसएचओ ने एफआईआर दर्ज करने के लिए 50 हजार रुपए की मांग की। परिवादिया ने बताया कि उसके पति का एक पुलिसकर्मी दोस्त है, जिसका नाम रविन्द्र है। सिपाही रविन्द्र एक दिन उसके ससुराल आया और उसके साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाए और इसके लिए उसने पति व ससुरालवालों से रुपए भी लिए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।