नई दिल्ली।  70 साल की उम्र में दलजिंदर कौर मां बनी हैं। उन्होंने 19 अप्रैल को बेबी ब्वॉय को जन्म दिया। लंबे वक्त से मां बनने की इच्छा थी। इसी वजह से उन्होंने इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ-टेस्ट टयूब) तकनीक को अपनाया। वे इस बच्चे को पाकर बेहद खुश हैं। दोनों ने अपने बेटे का नाम अरमान सिंह रखा है।
आईवीएफ से तीसरी कोशिश में मिली कामयाबी…
 – दलजिंदर कौर की उम्र 72 साल है। जबकि उनके पति मोहिंदर सिंह गिल 79 साल के हैं।
– दलजिंदर 2013 से यह ट्रीटमेंट ले रही हैं। अमृतसर से हरियाणा के हिसार वे सिर्फ ट्रीटमेंट के लिए आते थे।
– दो बार ट्रीटमेंट फेल हो जाने के बाद इस कपल ने हार नहीं मानी।
– डॉक्टर के मुताबिक, दोनों को बच्चे की बहुत इच्छा थी और वे इसके लिए लगातार कोशिश करते रहे।
 दो बार फेल हो चुका था ट्रीटमेंट
 – दो बार आईवीएफ ट्रीटमेंट फेल होने के बाद, आखिरकार कौर जुलाई में प्रेग्नेंट हुईं।
– कौर के डॉ. अनुराग बिशनोई ने बताया- “दलजिंदर 2013 में पेपर में आईवीएफ के बारे में पढ़कर हमारे पास आई थीं।”
– “यह मेरा दूसरा केस है, जब 70 साल की एक महिला आईवीएफ ट्रीटमेंट से मां बनी है।”
– “पहली बार 2006 में राजो देवी 70 साल की उम्र में मां बनी थीं।”
– “वहीं, 2008 में एक 66 साल की महिला ने तीन बच्चों को जन्म दिया था। उसके दो बच्चे और एक लड़की थी।”
– “बुजुर्ग महिला आईवीएफ के जरिए मां बन सकती है, लेकिन हरेक के लिए यह संभव नहीं है।”
– “यह अच्छी बात है कि कौर का मेडिकल रिकॉर्ड बहुत अच्छा था और वह कंसीव होने के लिए पूरी तरह फिट थीं।”
– “2013 में हम पहली कोशिश में फेल हो गए थे।”
– “हमने 6 महीने बाद फिर कोशिश की। लेकिन इस बार भी हम असफल रहे। तीसरी कोशिश में हम सफल रहे।”