नागौर।   बख्तसागर में शिवलिंग के चारों तरफ चार दीवारी, पार्क सौन्दर्यकरण, उद्यान निर्माण, चार दीवारी समेत अन्य कार्यों का सोलंकी ने  निरीक्षण किया।  गौरतलब है कि पत्रिका अभियान के तहत गंदगी में डूबे शिवलिंग का उद्धार करने के लिए मुहिम चलाई थी।

रंग लाई पत्रिका की मेहनत

इसके बाद शहरवासियों ने अभियान के तहत श्रमदान कर तालाब की सफाई की थी। बख्तसागर तालाब में दिसम्बर में शुरू अभियान के तहत शिवलिंग को गंदगी से बाहर निकालने का बीड़ा नगर परिषद सभापति कृपाराम सोलंकी ने उठाया। शहरवासी में दस अभियान में मन से जुड़े।

मिलेगी भ्रमण पथ की सुविधा

सभापति  ने बताया कि तालाब के एक हिस्से में पार्क का निर्माण करवाया जाएगा जबकि दूसरे भाग में भ्रमण पथ तैयार करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि बख्त सागर के पूर्वी छोर पर किया गया अतिक्रमण हटाकर रास्ता निकाला जाएगा। इस अवसर पर पार्षद नरेश पुरोहित, लालचंद, ईश्वरचंद सोनी भी उपस्थित थे। इससे पूर्व में सडक़ निर्माण व चार दीवारी का कार्य हो चुका है।

मिट्टी निकालने का काम जारी

शहरवासियों ने लगातार दो महीने हर रविवार को श्रमदान कर पसीना बहाया। श्रम की बूंदों से तालाब निखरने लगा। महाशिवरात्रि पर शवलिंग का अभिषेक किया गया। जिसमें पूरा उमड़ा था। पत्रिका अभियान के तहत तालाब में शिवलिंग को गंदे पानी से बाहर निकालने के साथ ही तालाब में उगी झाडिय़ों को काटने व कचरा निकाला गया। मिट्टी निकालने का काम लगातार जारी है।

हटाए जाएंगे अतिक्रमण

नगर परिषद, विभिन्न संघ-संस्थाएं, समाज, शिव भक्त, स्कूली विद्यार्थी, शिव सैनिक, गौ भक्त, महिला संगठन समेत शहरवासियों ने श्रमदान कर अपना योगदान दिया। शिवलिंग के चारों ओर गोलाकार दीवार का निर्माण करवाया जा रहा है। साथ ही यहां उद्यान का विकसित करने के लिए जमीन समतलीकरण का कार्य चल रहा है। तालाब के पास किए गए अतिक्रमण हटाकर पहले की भांति रास्ता निकाला जाएगा।